ETV News 24
Other

बेतिया की खास खबरें, 11/12/2019

प्रेम जाल में फंसाकर लड़की को जिंदा जलाया, आरोपित गिरफ्तार ,इलाज क्रम युवती की हुई मौत
यौन शोषण के उपरांत शादी का झाँसा देकर ली दो जिंदगियों की जान से किया खिलवाड़
एसपी की त्वरित कार्यवाई से मिली कामयाबी, शिकारपुर पुलिस को मिली कामयाबी



नरकटियागंज शिकारपुर थाना क्षेत्र के राजपुर तुमकड़िया पंचायत के मोहम्मदपुर गाँव में 19 वर्षीय लड़की को उसी के घर में घुसकर किरासन तेल शरीर पर डालकर जिंदा जलाने का मामला सामने आया है. जिसमें एक साथ दो जिन्दगियाँ तबाह की जाने की कोशिश की गई. ज्ञात हो कि पीड़िता 1 महीने के गर्भ से थी. ज्ञात हो कि उक्त लड़की द्रारा जब इसकी सूचना अरमान अंसारी को दिया और शादी के लिए दबाव बनाया, इसी बात पर पहले से दोनों में वाद विवाद भी हुआ था, लेकिन इसकी सूचना जब परिवार वालों को हुई तो उनलोगों ने अरमान के पिता वासिम को इन साड़ी बातों की जानकारी दी. यह भी बाताया कि अरमान ने शादी करने का झांसा देकर लड़की का यौन शोषण करता रहा. बताया जा रहा है कि पूर्व से ही इन दोनों लोगों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था. जब लड़की गर्भवती हो गई तो लड़की ने अरमान मियां से शादी के लिए बोली, इसी बात पर दोनों में वाद विवाद हुआ और इसी दौरान घर में रखें किरासन तेल शरीर पर डालकर जिंदा पेट में पल रहे बच्चे को भी जिंदा जला दिया. जिसमें लड़की लगभग 70 परसेंट आग में झुलस गई है. नरकटियागंज के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ० शिव कुमार ने बताया कि लड़की 70 प्रतिशत से ज्यादा झुलस गई है, बचने की संभावना कम है. बहरहाल अनुमंडलीय अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद स्थिति को गंभीर बतातें हुए, बेतिया रेफर कर दिया गया. वहीँ घटना की सुचना पाकर एमजेके अस्पताल में बेतिया के डॉ० ने स्थिति की जाँच कर जली लड़की को बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया गया है. वहीँ इस घटना को लेकर एसडीपीओ सूर्यकांत चौबे तथा शिकारपुर पुलिस कर्मी सहित बल घटना स्थल पर पहुँच फरार आरोपित अरमान को छापेमारी कर गिरफ्तार कर लिया गया है. मामले में निरीक्षण में आई जिला पुलिस कप्तान निताशा गुड़िया ने बताया कि पुलिस की त्वरित कार्यवाई के दौरान आरोपित अरमान को हिरासत में ले लिया गया है, अनुसंधान के उपरांत अग्रेतर कार्यवाई की जाएगी।वही पटना ले जाने क्रम रास्ते में युवती की हुई मौत।


जमीनी विवाद को लेकर आपस में हुई मारपीट


नरकटियागंज शिकारपुर थाना क्षेत्र के नन्ह्कर मोतिहारी निवासी हकीम मियां पिता अली हसन मियाँ तथा गोशबानी खातून बुरी तरह घायल हो गए थे. घटना के सन्दर्भ में हाकिम मियां ने बताया कि साकिब मियां, जाकिर अंसारी, सकीना खातून, जैतून खातून, अलीहसन मियां सभी लोग हमें जान से मारकर हमारी जमीन को हड़पना चाहते हैं, जिसको लेकर थाने में आवेदन देने की बात कही. वहीं दूसरे पक्षों की दूरभाष पर या स्थल पर अनुपस्थित होने के कारण उनका पक्ष नहीं लिया जा सका. मामले में प्रभारी थानाध्यक्ष उपेन्द्र कुमार ने बताया कि आवेदन प्राप्त होने के बाद जांच उपरांत कार्रवाई की जाएगी.

खेतों में “पराली” जलाने से ज्यादा खतरनाक है अस्पताल का कचरा जलाना, बन रहा जानलेवा
नीतीश सरकारों के संदेशों की हो रही नाफ़रमानी



नरकटियागंज अनुमंडल अस्पताल परिसर में इमरजेंसी वार्ड के पीछे बिखरे हुए सभी प्रकार के कचरों (कचड़ों) को इकठ्ठा कर आग के हवाले कर दिया गया, जिससे पूरा इमरजेंसी वार्ड धुआं से भर गया। उस समय यदि वार्ड में कोई अस्थमा या सांस कष्ट रोगी होता तो क्या होता? ये तो समय आने पर पता चलता। आखिर इसे क्या संज्ञा देंगे? बिहार सरकार में शामिल भाजपा, जदयू, लोजपा इस मुद्दे पर चुप है। बिहार सरकार के मुखिया एक तरफ पूरे बिहार में “जल-जीवन-हरियाली” को लेकर लोगों के बीच जागरूकता पैदा करने में लगे हैं। सबसे ज्यादा किसानों पर खेत मे कृषि अवशेष “पराली” जलाने को पर्यावरण प्रदूषण फैलाने का आरोप लगाते रहे और किसान भाइयों को खेत में पुआल नहीं जलाने की नसीहत दे रहे हैं। इसे खेतों के नुकसान होने के साथ वातावरण दूषित होने की बात कह रहे हैं। अलबत्ता उन्हीं के अस्पताल परिसर में दूषित प्लास्टिक के साथ सूखे (कचड़ों) कचरों में आग लगा दिया जाता है, क्या इससे पर्यावरण प्रदूषण नहीं होता? क्या खेतों की “पराली”, अस्पताल के कचरों से ज्यादा खतरनाक है। ऐसे मामलों को मुख्यमंत्री संज्ञान लें और अपने अभियान में इसकी चर्चा करें, की अस्पताल में कचरा जलाने वालों पर एफआईआर किया जाएगा। नरकटियागंज सरकारी अनुमण्डल अस्पताल प्रशासन कचरा जलाने के मामले में मौन है। उन्हें क्या मरीज मरे या पर्यावरण प्रदूषित हो किसी का ध्यान इस तरफ नहीं है। पर्यावरण प्रदूषण व मरीजों की मौत से अस्पताल कर्मियों का क्या लेना देना? राजद नेता विनय यादव, मुन्ना त्यागी, शेख भोला और विपिन यादव का कहना है कि नीतीश कुमार के खाने व दिखाने के दाँत अलग अलग हैं। उनका किसानों से बैर है, इसलिए कारखानों से ज्यादा “पराली जलाना” खतरनाक लगता है। अब समझने की बात है की वायु प्रदूषण ज्यादा पुआल जलने से फैलती है या प्लास्टिक समेत कचड़ों को जलाने से फैलती है, लेकिन सरकार इन सभी समस्याओं को नजरअंदाज कर रही है.

दलित बस्ती में चलाया गया निःशुल्क दंत चिकित्सा शिविर


नरकटियागंज रोटरी क्लब द्रारा माँ विद्या दंत क्लीनिक के सहयोग से बिनवलिया पंचायत के दलित बस्ती अम्बेडकर नगर में मुख सुरक्षा एवं स्वच्छता अभियान जागरूकता अभियान के अंतर्गत निःशुल्क दंत चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। सचिव प्रदीप कुमार श्रीवास्तव ने ग्रामीणों को मुख की उचित सफाई करने का आह्वान किया और बताया कि ऐसा नहीं करने से हम अनेक रोगों के शिकार हो जातें हैं। इसलिए हमें हमेशा मुँह और दाँत की  सुबह जगने के बाद एवं सोने के पहले अवश्य सफाई करनी चाहिए। लोगो में यह अवधारणा है कि यदि हम दाँत को जोड़ से ब्रश करेंगे तो दांत में ज्यादा चमक आती है,परन्तु ऐसा करने से मसूड़ा कमजोर हो जाता है और दाँत टूट जाती है।   डॉ० वी० के० नारायण ने बताया कि दंत क्षरण अर्थात दाँत में छिद्र होना एक बीमारी है, जिसमें जीवाण्विक प्रक्रियायें दाँत की सख्त संरचना (दन्तबल्क, दंत-उत्तक और दंत मूल) को क्षतिग्रस्त कर देती है। दंत क्षय दो जीवाणुओं स्ट्रेप्टोकॉकस, म्युटान्स और लैक्टोबैसिलस के कारण होता है। यदि इसका सही और समय पर उचित इलाज नहीं किया जाय, तो इस बीमारी के फलस्वरूप दाँत में दर्द, दातों की हानि और चरम स्थितियों में मृत्यु तक हो सकती है। अध्यक्ष अवधकिशोर सिन्हा ने बताया कि रोटरी क्लब और डॉ० विधा दंत क्लीनिक के सहयोग से इस दलित बस्ती के ग्रामीणों एवं राजकीय प्राथमिक विद्यालय के छात्र छात्राओं का दाँत की जाँच की गई औऱ दाँत की सफाई के लिए 100 पेस्ट और टूथब्रश का वितरण किया। मौके पर मधु देवी, धर्मशीला देवी, सनामती देवी, सीमा कुमारी, रंजीत कुमार के अतिरिक्त दर्जनों महिला, पुरूष एवं बच्चों ने  दांत जाँच के बाद बड़ी खुशी जाहिर किया और रोटरी क्लब को धन्यवाद दिया। इस अवसर पर  कोषाध्यक्ष वर्मा प्रसाद, ई० उमेश प्रसाद जायसवाल ने अपना विचार प्रकट किया। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में रोट्रेक्ट अम्बुज कुमार, अभिषेक कुमार, संदीप कुमार की सहभागिता रही।

शहर में 1.03 करोड़ से बनेंगे 22 मॉडल महिला-पुरुष मूत्रालय व शौचालय : गरिमा



बेतिया नगर परिषद क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में 14  महिला-पुरुष मूत्रालयों एवं बारह शीट के 8 सार्वजनिक शौचालयों के निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. नगर परिषद से बनने वाले प्रत्येक आठ शौचालय के निर्माण पर 9.05 लाख तथा प्रत्येक चौदह मूत्रालयों के निर्माण पर 2.22 लाख की लागत आयेगी। नप सभापति गरिमा देवी सिकारिया ने बताया कि शहर को स्मार्ट सिटी बनाने में उत्तम साफ सफाई व सड़क, नाला-नालियों के निर्माण के साथ महिलाओं की परेशानी को देखते हुए इसकी भी जरूरत लम्बे समय से अपने बेतिया शहर में महसूस की जा रही थी। सभापति ने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के मानकों के अनुसार भी ऐसा होना जरूरी है। सभापति गरिमा देवी सिकारिया ने बताया कि इसके लिये जरूरी जमीन का अभाव होने के कारण शहर में स्थित प्रखंड कार्यालय परिसर, पुलिस लाइन परिसर,  नजरबाग पार्क, कंजर टोली व काली बाग ओपी परिसर में भी सार्वजनिक उपयोग के अनुरूप बारह बारह शीट के मॉडल सार्वजनिक शौचालय निर्माण का निर्णय नप बोर्ड ने किया है। उक्त निर्माण की निविदा जारी हो जाने के बाद स्थल चयन को लेकर वे शीघ्र ही पुलिस अधीक्षक से मिलने वालीं हैं। वही तीन लालटेन चौक के समीप बम पुलिस के नाम से चिन्हित, मीना बाजार टांगा स्टैंड व नगर परिषद कैंपस आदि स्थानों का चयन बारह बारह शीट के शौचालय निर्माण के लिये किया गया है।  प्रत्येक महिला-पुरुष मॉडल मूत्रालयों के सेट में एक महिला एवं तीन पुरुष मूत्रालय लगे होंगे। महिला-पुरुष मूत्रालय नगर के भीड़-भाड़ वाले इलाकों में यथा सोवा बाबू चौक बाइक पार्किंग, नजर बाग पार्क, नगर थाना परिसर, मीना बाजार टाँगा स्टैंड, नगर परिषद कार्यालय परिसर, हजारीमल धर्मशाला के पास, नुनिया टोली मुख्य नाला के पास, के. लाल एंड संस के पास, चर्च रोड, नगर भवन के पास, कम्युनिष्ट पार्टी चौक, लाल बाजार चौक, महिला थाना के पास इत्यादि स्थानों पर निर्माण कराने कर लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। महिला-पुरुष मूत्रालयों की निविदा का निष्पादन 28 दिसंबर 2019 तक हो जाना निर्धारित किया गया है। सभापति गरिमा देवी सिकारिया ने बताया कि मैं खुद भी महिला हूँ, और गाँव क्षेत्रों से बेतिया शहर में प्रतिदिन आने वाली महिलाओं के मूत्रालय के अभाव के दुख को देखते हुए ही नये साल 2020 में खासकर महिलाओं को उपहार स्वरूप पूरी होने वाली इन 22 मॉडल महिला-पुरुष पेशाब घरों एवं शौचालयों की योजनाओं पर कुल 1.03 करोड़ रुपये खर्च कर निर्माण कराए जाने का रास्ता साफ हो गया है।

समकालीन अभियान के तहत अभियुक्त गिरफ्तार, जेल


साठी लौरिया प्रखंड अंतर्गत साठी थाना क्षेत्र के दानियाल परसौना निवासी गोरख महतो को गिरफ्तार कर लिया गया है. मामले में साठी थाना प्रभारी राजु मिश्रा ने इस संबंध में बताया कि गोरख महतो को गुप्त सूचना के आधार पर साठी थाना पुलिस ने उनके निवास स्थान से समकालीन छापेमारी अभियान के तहत गिरफ्तार करके तहत जेल भेज दिया गया है.

फकीराना सिस्टर सोसायटी द्रारा नशा मुक्ति, बाल मजदूरी उन्मूलन व दस्ता निकाली गई उन्मूलन जागरूकता रैली


लौरिया मंगलवार को लौरिया प्रखंड क्षेत्र के गोनौली-डुमरा पंचायत के सिरकैया एवं सिसवनिया के धांगर टोली वार्ड-4 में गुलामी के विरुद्ध स्थायी कदम परियोजना फकिराना सिस्टर्स सोसाइटी (बेतिया) के तत्वावधान में स्थानीय जनप्रतिनिधि, समुदाय निगरानी समिति, रोजगार उत्प्रेरक समूह, युवा स्वयंसेवक समूह सदस्यो द्वारा नशा मुक्ति, बाल मजदूरी उन्मूलन एवं दस्ता उन्मूलन जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। रैली के दौरान समुदाय के लोग पूर्ण नशा बंदी पर रोक लगाने हेतु नारे लगा रहे थे।  “जो पियेगा दारू”  “उसे लगेगी झाड़ू”  “नशा का जो हुआ शिकार”  “उजड़ा उसका घर परिवार”  “बस सबने मन में ठाना है”  “नशा मुक्त समाज बनाना है”  “बच्चों को पढ़ायेंगे”  “बाल मजदूरी नहीं करायेंगे”  रैली सिरकैया गाँव से होते हुये राष्ट्रीय राज्य मार्ग 727 होते सिसवनिया, धांगर टोली गाव से होकर सिरकैया प्रकाश सिलाई केंद्र पहुँच कर एक सभा में तब्दील हो गयी। जहाँ समाज को पूर्ण रूपेण नशा, दासता एवं बाल मजदूरी मुक्त बनाने का संकल्प सभी प्रतिभागियों ने लिया। साथ ही इस दौरान उपस्थित लौरिया थाना के स.अ.नि. महेंद्र राम ने समुदाय की इस पहल को बल देते हुए कहा कि सरकार एवं कानून हर पल समाज को इन बुराईयों से बचाने के लिए तत्पर है, जब हमारा समाज पूरी तरह से इन से बचा रहेगा, तभी उसका समुचित विकास हो पायेगा। नशा मनुष्य के शरीर के साथ-साथ धन दौलत का भी नाश करती है। वहीँ संस्था की निदेशिका सिस्टर सरिता ने कहा कि नशा कई बुराइयों का जड़ है, यह समाज में बाल मजदूरी और दासता को बढ़ावा देने का एक प्रमुख कारण भी है। परियोजना समन्वयक रत्नेश मिश्र ने अपने संबोधन में कहा कि नाश पूर्ति के लिए लोग बच्चों को बाल मजदूरी में भेज देते हैं, जहाँ उनका शोषण किया जाता है, और उन्हें दासता का शिकार बना दिया जाता है। इसलिये जबतक समुदाय इसके लिए चौकन्ना रह कर नजर नहीं रखेगा. तब-तक इसका उन्मूलन नहीं होगा। वार्ड सदस्य राजकुमारी देवी ने कहा की अब इन बुराइयों का अंत जल्द होगा क्योंकि अब महिलाये अपने-अपने परिवार पर भी इस के रोकथाम हेतु नजर रखेंगी। मौके पर प्रखंड समन्वयक प्रदीप कुमार, फ्रांसिस जेवियर, अनुराधा कुमारी, बिंदा देवी, अनारकली देवी, अमर माँझी, पारस दास, सहित अन्य  सैकड़ों लोग उपस्थित रहें।

कम उम्र में शादी रोकने से लगभग 21 लाख बच्चों की मृत्यु से बचाव संभव 


बेतिया कम उम्र में लड़कियों की शादी उनके सेहत के साथ होने वाले बच्चे की सेहत पर भी प्रतिकूल असर डालता है. 18 साल से कम उम्र में शादी होने से गर्भावस्था एवं प्रसव के दौरान कई स्वास्थ्य जटिलताएं बढ़ने का ख़तरा होता है. इससे माँ के साथ नवजात के जान जाने का भी खतरा होता है. साथ ही कम उम्र में शादी होने से सामाजिक बाध्यता बढ़ जाती है एवं किशोरावस्था में ही माँ बनने पर भी मजबूर होना पड़ता है. जिससे सही समय पर परिवार नियोजन साधन अपनाने में भी कमी आती है. वर्ष 2050 पहुँच सकती है संख्या 120 करोड़ के पास : द ग्लोबल पार्टनरशिप टू इंड चाइल्ड मैरिज की रिपोर्ट के अनुसार यदि बाल विवाह पर अंकुश नहीं लगाया तब वर्ष 2050 तक यह संख्या 120 करोड़ के पार पहुँच सकती है. फ़िलहाल प्रतिवर्ष 18 साल से कम उम्र में लगभग 15 लाख लड़कियों की शादी हो जाती है. यही कारण है कि जिन देशों में बाल विवाह की दर अधिक है, उन देशों में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य को लेकर अधिक चुनौतियाँ भी है.  21 लाख शिशुओं की बचाई जा सकती है जान: द ग्लोबल पार्टनरशिप टू इंड चाइल्ड मैरिज की ही रिपोर्ट के अनुसार बाल विवाह पर अंकुश लगाने से आगामी 15 सालों में लगभग 21 लाख शिशुओं को मरने से बचाया जा सकता है. साथ ही इससे 36 लाख बच्चों को नाटापन के शिकार होने से भी बचाया जा सकता है. 20 वर्ष से कम उम्र में लड़कियों की शादी होने से मृत नवजात जन्म की संभावना 50 प्रतिशत तक बढ़ जाती है. इसलिए 15 से 18 वर्ष तक आयु वर्ग की किशोरियों में गर्भधारण एवं प्रसव संबंधित जटिलताओं के कारण सर्वाधिक मौतें भी होती हैं.  65 प्रतिशत किशोरियों में जन्म नलिका में छिद्र होने की समस्या: कम उम्र में शादी होने से प्रसव के बाद भी कई जटिलताएं आती हैं. जिसमें ओबेसट्रेटीक फिस्टुला (जन्म नलिका में छिद्र होना) एक गंभीर समस्या है. ओबेसट्रेटीक फिस्टुला के कुल मामलों में लगभग 65 प्रतिशत मामले 18 वर्ष से कम उम्र में माँ बनने वाली किशोरियों में होती है. सिविल सर्जन ने बताया कि बाल विवाह को रोकने के लिए सरकार सख्त कदम उठा रही है. कम उम्र में शादी से लड़कियों को मानसिक और शारीरिक पीड़ा उठानी पड़ती है।  जिससे माता में गंभीर रोगों की समस्या बढ़ने लगती है।  इससे प्रसव के दौरान कई स्वास्थ्य जटिलताएं आती है, जिससे मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में भी बढ़ोतरी होती है.

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर कार्यक्रमों का हुआ आयोजन



बेतिया अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर शहर के विभिन्न शिक्षण संस्थानों, सामाजिक संस्थानों में विगत वर्षों के भांति इस वर्ष भी कार्यक्रम आयोजित किए गए, इस अवसर पर सभी शिक्षण संस्थानों, सामाजिक संस्थानों में मानव अधिकार दिवस के ऊपर चर्चा की गई, इस अवसर पर वक्ताओं के द्वारा मानव अधिकार क्यों और कैसे तथा मानवाधिकार के हनन पर विस्तृत चर्चा व प्रकाश डाला गया, लोगों के अंदर मानवाधिकार के प्रति सजग रहने तथा जागृति लाने के लिए कार्यक्रम के माध्यम से लोगों को जागृत करने का काम किया गया। इस वर्ष मानव अधिकार दिवस को मनाने के लिए प्रशासन के स्तर से भी कार्यक्रम आयोजित करने का आदेश निर्गत किया गया था ,इसी आदेश के अंतर्गत शहर के विभिन्न विद्यालयों, सामाजिक संस्थानों में मानवअधिकार दिवस मनाने का प्रबंध किया गया था, इसी क्रम में स्थानीय एमजेके कॉलेज के हॉल में पीयूसीएल के द्वारा  भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया , जिसमें सैकड़ों की संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित थी, इन लोगों के बीच विभिन्न वक्ताओं ने मानव अधिकार पर विशेष रूप से चर्चा की। इसी क्रम में अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संघ (भारत) के जिला इकाई में भी इस दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें इस संस्था के जिला अध्यक्ष, सरैया शाहब ने इस मौका पर बोलते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन और जिला प्रशासन के द्वारा सबसे अधिक मानवाधिकार हनन का काम किया जाता है, जिसे रोक लगाने की आवश्यकता है, उन्होंने आगे कहा कि आदमी जब से पैदा होता है और मरने के समय तक मानवाधिकार से घिरा रहता है, जीवन में कोई ऐसा पल नहीं है जहां मानव अधिकार की आवश्यकता नहीं पड़ती है, हर व्यक्ति अपनी जिम्मेदारी को समझ ले और अपने कर्तव्य पर काम करता रहे तभी वह मानवाधिकार की खोज कर सकता है, कर्तव्य और अधिकार दोनों का एक पारस्परिक संबंध होता है। मानवाधिकार का हनन होना, सामाजिक तौर पर इसकी भर्तसना  करना हम सभी का कर्तव्य बनता है।
इसी क्रम में स्थानीय संपोषित कन्या उच्च विद्यालय, हिंदू अनाथालय एवं अन्य स्थानों पर शहरी क्षेत्र के अलावा ग्रामीण विद्यालयों में भी मानवाधिकार दिवस मनाने का कार्यक्रम किया गया जिसमें बहुत संख्या में छात्र-छात्राएं आमजन उपस्थित थे तथा इस दिवस के बारे में विस्तृत रूप से लोगों को जानकारी दी गई ताकि आमजन भी मानवाधिकार के प्रति अपने अधिकार को जानने के लिए सचेत रहें।

पुलिस सुरक्षा में चिकित्सीय जाँच हेतु भेज गए होटल से आपत्तिजनक स्थिति में गिरफ्तार अभियुक्त


बगहा प्रखंड बगहा दो के होटल गीतांजली में कल दिनांक 9-12-2019 को गुप्त सूचना के आधर पर बगहा पुलिस द्रारा की छापामारी के तहत दो महिलाओँ सहित पाँच व्यक्ति आपत्तिजनक स्थिति मे गिरफ्तार किए गए, जिसमें एक  होटल का मैनजर दीपू कुमार एवं दो व्यक्ति संजय कुमार पिता बासुदेव कुमार, नगर थाना बेतिया एवं साहिद अली पिता  रहीम मियाँ, डफाली टोला बगहा  को बगहा नगर थानाध्यक्ष भगत लाल मंडल  पटखौली ओ पी थाना प्रभारी  धर्मवीर कुमार भारती,  बगहा एस पी आदित्य कुमार,  बगहा दो के पुलिस निरीक्षक मो० इस्लाम ने सयुक्त रूप से टीम बनाकर की।  बताते चलें कि बगहा पुलिस को पहले से ही होटल गीतांजलि मे हो रहे देहव्यार की घटनाओं पर पैनी नजर थी, जिसके तहत की गई छापामारी, जिसमें होटल मैनेजर  को जेल भेज  दिया जाया. वहीँ दो अभियुक्तों पर कांड संख्या 642/19 चिकित्सीय जाँच हेतु बेतिया भेजा गया.

23 महिलाओं को किया गया बंध्याकरण


भितहा पीएचसी में शिविर का आयोजन कर महिलाओं को  बंध्याकरण किया गया। पीएचसी चिकित्सा प्रभारी डॉ० शाहरिचि प्रसाद ने बताया कि बीते रात सोमवार को शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में आई  23 महिलाओं को जिला से आए चिकित्सक डॉ० शम्भू प्रसाद सर्जन के द्रारा बंध्याकरण किया गया। वहीँ पीएचसी प्रभारी ने बताया कि सभी बंध्याकरण की महिलाओं को दो हजार रुपए के दर से प्रोत्साहन राशि लाभुकों के खाता में दिया जाएगा।

वारंटी गिरफ्तार


चौतरवा पुलिस ने सोमवार एक वारंटी को गिरफ्तार किया है। आरोपी कोर्ट से जमानत मिलने के बाद लंबे समय से कोर्ट की तारीखों पर हाजिर नहीं हो रहा था। कोर्ट से आरोपी को नोटिस जारी होने के बावजूद, आरोपी जनक प्रसाद पतिलार, निवासी कोर्ट में हाजिर नहीं हुआ। जिसपर कोर्ट ने आरोपी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किये थे। चौतरवा थानाध्यक्ष विनय मिश्रा ने बताया कि आरोपी को पुलिस ने सोमवार को सायंकाल गस्ती के दौरान उसके घर से गिरफ्तार कर लिया है, जिसे मंगलवार को न्यायिक हिरासत बगहा जेल भेज दिया गया।

14 दिसंबर को आयोजित होगा राष्ट्रीय लोक अदालत


बेतिया विधिक सेवा प्राधिकार के आदेश पर बेतिया व्यवहार न्यायालय में 14 दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालत लगाया जाएगा, जिसमें भारत संचार निगम लिमिटेड उपभोक्ताओं को विशेष छूट मिलेगी, टीडीएम ने बताया कि जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देश के आलोक में आयोजित होने वाली इस लोक अदालत में बीएसएनएल के उपभोक्ता विशेष छूट का लाभ लेकर अपने बकाए राशि का निपटारा कर सकते हैं, साथ ही नए सिरे से बी.एस.एन.एल. से जुड़ सकते हैं. उन्होंने आगे बताया कि लोग को अदालत के दौरान बीएसएनएल के अधिकारी बगहा व बेतिया दोनों जगह पर वादों का निपटारा करने के लिए मौजूद रहेंगे। राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन होने से कई विभागों के समस्याओं का समाधान होने में काफी सहायता मिलती है, इसी लोक अदालत के द्वारा जन समस्याओं का निपटारा आसानी से हो जाता है, इसके अलावा बैंक के माध्यम से लोगों के द्वारा लिए गए ऋण को भी चुकता करने में बहुत मदद मिलती है. जन कल्याण कार्यक्रमों के तहत इस तरह से राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन करके जन भावनाओं का और उनके समस्याओं का समाधान होना एक अच्छी बात है. इसके माध्यम से आम लोग भी अपनी समस्याओं का निदान करा लेते हैं।

बैंक से राशि निकालने के 16 महीने बाद हुई प्राथमिकी दर्ज
बेतिया जिले के नगर थाना क्षेत्र के बैंक ऑफ इंडिया के स्थानी शाखा से एक ग्राहक के खाते से बिना किसी जानकारी निकाले गए 2 लाख सत्तर हजार रूपये के मामले में न्यायालय के निर्देश पर शाखा प्रबंधक के नगर थाने में एफ आई आर दर्ज कराई है। बैंक खाताधारक रवि कुमार अपने खाते से बिना किसी जानकारी के 2 लाख सत्तर हजार रूपये निकाल लिए जाने की शिकायत को लेकर पिछले 16 माह से भटक रहा था, इस बाबत ग्राहक बैंक में अर्जी देकर थक चुके थे ,जब कोई समाधान नहीं निकला तो खाता धारक न्यायालय की शरण ली, न्यायालय के आदेश पर नगर थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। इस घटना के संबंध में संवाददाता को पता चला है कि शहर के न्यू कॉलोनी निवासी रवि कुमार ने गत 21 जुलाई 2018 को अपनी मां फुलवंती देवी के पेंशन खाते से ₹5लाख अपने खाते में जमा कराए थे 3 दिन बाद 24 जुलाई 2018 को उनके खाते से चेक के माध्यम से 2 लाख सत्तर हजार रूपये की निकासी कर ली गई है, मोबाइल पर खाते से राशि कटने से मैसेज मिलने के बाद रवि ने बैंक से संपर्क किया, उसने बैंक प्रबंधन को बताया कि राशि निकाले जाने की जानकारी उन्हें नहीं है और ना ही उन्हें किसी को चेक दिया था, बैंक अधिकारी ने चेक बुक के उपयोग होने के बाद उसको लेकर खाता नहीं मिला है, इधर बैंक के तरफ से दो अधिकारियों की ओर से हस्ताक्षर मिलाने के बाद ही भुगतान का दावा किया गया है, बैंक में शिकायत करने के बाद में न्यायालय में गुहार लगाई, बैंक प्रबंधन के मामले में प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया, इस मामला  में प्राथमिकी दर्ज कराया गया है. नगर थानाध्यक्ष शशिभूषण ठाकुर ने बताया कि मामले में अनुसंधान की जा रही है, जिसके पश्चात अग्रेतर कार्यवाई होगी.

घटना के 2 महीना बाद पुलिस ने की प्राथमिकी दर्ज


बेतिया जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बैजनाथपुर में 2 महीना पहले हुए एक घरेलू के विवाद के मामले में शनिवार को एफआईआर दर्ज की गई है, पुलिस के इस लापरवाही पर आमजन में रोष व्याप्त है. हालांकि पुलिस ने घटना के 4 दिन बाद ही मामले में घायल लोग  लवकुश का बयान दर्ज किया था, जिसमें घायल लव कुश ने पुलिस को बताया था कि 10 अक्टूबर की रात तो वह अपने घर में था तभी उसके भाई धर्मेंद्र शाह का बेटा आया और उसके घर में सोच कर दिया लव कुश ने जब उससे साफ करने को कहा तो धर्मेंद्र साह, चंदन साह, आशा देवी, आरती देवी उसके साथ तो गाली गलौज- मारपीट करने लगे ,विरोध करने पर और सब ने मिलकर उसकी पिटाई कर दी. पुलिस ने मामले में 14 अक्टूबर को घायल के बयान दिया था, लेकिन मामला दर्ज करने में पुलिस को तकरीबन दो माह का समय लग गया इससे यह स्पष्ट होता है कि पुलिस संबंधित परिजनों से सुविधा शुल्क के चक्कर में प्राथमिकी दर्ज नहीं की थी इस तरह की घटना थाना प्रभारियों के द्वारा प्रतिदिन घट रही है जो पुलिस प्रशासन पर विश्वासघात करने का इल्जाम लग रहा है. इसी तरह की कोई घटना विभिन्न पुलिस थानों की संवाददाता को मिल रही है. मगर पुलिस प्रशासन है कि बगैर सुविधा शुल्क के कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं करती है. अगर आवेदन करता थाना पर प्राथमिकी दर्ज कराने जाता है तो डांट फटकार कर गाली गलौज करता उसे भगा दिया जाता है. जब वही आवेदन करता पैसा दे देता है तो आसानी से प्राथमिकी दर्ज हो जाती है इस तरह की कई घटनाएं सामने आ रही हैं. मगर पुलिस प्रशासन है कि सुधरने का नाम नहीं ले रही है और पुलिस- पब्लिक संबंधों पर इस तरह की घटना होने पर पुलिस की विश्वसनीयता समाप्त होती जा रही है और आम लोगों का पुलिस पर से विश्वास उठता जा रहा है, जिसे मानवाधिकार का हनन कहा जाए तो अन्यथा नहीं होगा।

पैक्स चुनाव में पुराने अध्यक्षों का रहा दबदबा
गाजे-बाजे के साथ समर्थको ने मनाया जीत का जश्न



नौतन पैक्स चुनाव की मतगणना मंगलवार की सुबह आठ बजे से प्रशासनिक चौकसी के बीच शुरू हो गई। सुरक्षा व शान्ति व्यवस्था के लिए मतगणना केन्द्र पर भारी संख्या में पुलिस बल जवानो की तैनाती की गई । प्रखंड निर्वाची पदाधिकारी सह बीडीओ शैलेन्द्र कुमार सिंह के निगरानी मे प्रत्येक पंचायतो की गिनती की प्रक्रिया बारी बारी से की गई । साथ ही निर्वाचित पैक्स अध्यक्षो को प्रमाण पत्र दिया गया । खड्डा पंचायत से नुरूदीन अंसारी जमुनिया पंचायत से विरेंद्र प्रसाद धुमनगर पंचायत से हरिश्चंद्र प्रसाद डबरिया पंचायत से रिकू राय उतर तेल्हुआ पंचायत से हरीलाल यादव दक्षिण तेलूवा पंचायत से मुकेश यादव पुर्वी नौतन पंचायत से श्रीराम प्रसाद पश्चिमी नौतन पंचायत से भिखारी प्रसाद शिवराजपुर पंचायत से नथुनी दुबे बरदाहा पंचायत से महावीर प्रसाद बैकुन्ठवा पंचायत से बिनोद प्रसाद मंगल पुर कला पंचायत से राजेश पाडेय और मंगलपूर गुदरिया पंचायत से अलख देव सिंह निर्वाचित घोषित हुये है । वही जगदीशपुर पंचायत से पवन सिंह भगवानपुर पंचायत से अमरजीत यादव और सनसरैया पंचायत से राजू पटेल निर्विरोध निर्वाचित हुये है। शान्तिपूर्ण महौल मे मतगणना कराने के लिए एसडीएम विधानाथ पासवान पुलिस निरीक्षक रितेश कुमार भास्कर पुलिस निरीक्षक सह थानाधयक्ष संजीव कुमार सिंह, निराला सीओ विवेक कुमार मिश्रा, जगदीशपुर थाना प्रभारी कैलाश प्रसाद, एसआई अमीत कुमार सिंह, अरविंद कुमार एएसआई जितेन्द्र सिंह, राजिंदर यादव, यदुवंश सिंह सहित सभी पुलिस बल जवानो का सहयोग सराहनीय रहा ।

पैक्स चुनाव का मतदान, मतदानकर्मी मत पेटी लेकर बूथ के लिए हुये रवाना


मझौलिया मंगलवार के दिन पैक्स चुनाव को लेकर मतदानकर्मी मत पेटी लेकर बूथों पर रवाना हुये। यह जानकारी बीडीओ सह निर्वाची पदाधिकारी चंदन कुमार ने दी।उन्होंने बताया कि यह पैक्स चुनाव 23 पंचायतों में हो रहा है, जिसमें 71 बूथों पर मतदान होगा।इस चुनाव में पैक्स अध्यक्ष के पद पर 68 प्रत्यासी तथा सदस्य के पद पर 277 प्रत्यासी अपना भाग्य आजमा रहे है। सभी बूथों पर 4/1 के पुलिस बल तैनात रहेंगें। बतातें चलें कि पांच पंचायतों में अध्यक्ष सहित सदस्यों का चुनाव निर्विरोध हो गया है। वहीँ बखरिया पंचायत का चुनाव अगले साल निवार्चन होगा।

भितहां में पैक्स चुनाव का हुआ मतगणना,कही खुशी कही गम का रहा माहौल



बगहा अनुमंडल क्षेत्र स्थित भितहां प्रखंड के भिन्न-भिन्न पैक्सों में हुए चुनावो की गणना मंगलवार को प्रखंड मुख्यालय में शांतिपूर्ण माहौल में सम्पन्न हो गयी।इस दौरान प्रत्याशियों और समर्थकों में कही खुशी तो कही गम का माहौल देखने को मिला। विदित हो  मानपुर पैक्स में अध्यक्ष पद के लिए दो प्रत्याशी मैदान में थे वो भी दोनों महिला।जिसमे मानपुर निवासी बालिस्टर यादव की माँ गेना देवी 237 मत हासिल की जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी लालमुनि देवी पति दीनानाथ चौधरी  मात्र 234 मत ही हासिल कर सकी नतीजतन तीन मतों के अंतर से उन्हें हार का सामना करना पड़ा।आपकों बता दूँ यह चुनाव गेना देवी के लिए काफी चुनौती पूर्ण रहा ।कारण लालमुनि देवी वर्ष 2014  से अब तक इस पैक्स की अध्यक्ष पद पर पदासीन थी ।जबकि उसके पिछले करीब दो दशक से भी ज्यादा समय से उनके पति दीनानाथ चौधरी के पिता जगदीश चौधरी इस पद रहते हुए जनता की सेवा कर चुके है ।कुल मिलाकर इस  हार से चौधरी परिवार को गहरा सदमा लगा है।कारण लगातार ढाई दशक से भी ज्यादा इस अध्यक्ष पद की कुर्सी पर चौधरी परिवार का ही कब्जा रहा है।जो 2019 में यह कुर्सी उनके हाथों से खिशक कर बालिस्टर यादव की माँ गेना देवी के हाथों में चली गयी है।वही मछहा पैक्स से रिया पांडे 204 मतों से अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सत्येंद्र यादव को हारायी,सेमरवारी पैक्स से शत्रुघन यादव 9 मतों से अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बुना देवी को हराया,परसौना पैक्स से जितेंद्र कुमार पांडे अपने निकटतम प्रतिद्वंदी अच्छेलाल चौधरी को 275  मतों से पछाड़ा,खरवा पैक्स से विभव कुमार राय अपने निकटतम प्रतिद्वंदी महंत यादव को 218 मतों से पछड़ा डीही पकड़ी पैक्स से शीला देवी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी राजकुमार यादव को 83 मतों से हारायी, वही  भुइधारवा पैक्स से फूलमती देवी ने  97 मतों से अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी मजहर आलम को हारायी।

पैक्स चुनाव हेतु प्रथम चरण का मतदान शांतिपूर्ण सम्पन्न


कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदाताओं ने डाले वोट
बेतिया में 64.28 प्रतिशत, भितहां में 69.11 प्रतिशत, नौतन में 62.73 प्रतिशत एवं नरकटियागंज में 65.02 प्रतिशत हुआ मतदान
फोटो-7
बेतिया जिले में 9 दिसंबर को पैक्स चुनाव के लिए प्रथम चरण का मतदान बेतिया, भितहां, नौतन एवं नरकटियागंज प्रखंड क्षेत्रान्तर्गत पूर्ण शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न हो गया है। कड़ी सुरक्षा के बीच मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया। बेतिया प्रखंड अंतर्गत मतदान का प्रतिशत 64.28 रहा। जबकि भितहां प्रखंड में 69.11 प्रतिशत, नौतन प्रखंड अंतर्गत 62.73 प्रतिशत तथा नरकटियागंज प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत मतदान का प्रतिशत 65.02 रहा। इस तरह चारों प्रखंड क्षेत्रान्तर्गत मतदान का कुल प्रतिशत 64.35 रहा। जिला सहकारिता पदाधिकारी द्वारा बताया गया है कि बेतिया प्रखंड अंतर्गत 6 पैक्सों हेतु आज चुनाव सम्पन्न हुआ है। वहीं नौतन प्रखंड अंतर्गत 17, भितहां प्रखंड अंतर्गत 07 एवं नरकटियागंज प्रखंड अंतर्गत 18 पैक्सों हेतु चुनाव सम्पन्न हुआ है. उन्होंने बताया कि बेतिया, भितहां, नौतन एवं नरकटियागंज में पैक्स चुनाव हेतु हुए मतदान की मतगणना 10.12.2019 को की जायेगी। वहीं 11.12.2019 को द्वितीय चरण का मतदान बैरिया, पिपरासी एवं मझौलिया प्रखंडों में सम्पन्न होगा। तृतीय चरण का मतदान 13.12.2019 को चनपटिया, योगापट्टी एवं मधुबनी प्रखंड में सम्पन्न कराया जायेगा। चतुर्थ चरण का मतदान 15.12.2019 को गौनाहा, सिकटा, मैनाटांड़, ठकराहां एवं बगहा-02 प्रखंड में सम्पन्न होगा। बगहा-01, लौरिया एवं रामनगर प्रखंड क्षेत्रों में पैक्स चुनाव 17.12.2019 को सम्पन्न होगा। उन्होंने बताया कि मतगणना केन्द्र पर जिला निर्वाचन पदाधिकारी डॉ० निलेश रामचंद्र देवरे के निदेश के आलोक में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। स्वच्छ, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से मतगणना सम्पन्न कराने के उदेश्य से पदाधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों एवं पर्याप्त संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गयी है। आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध विधिसम्मत कार्रवाई की जायेगी।

Related posts

सबल पंचायत सक्रिय वुथ अभियान चलाया गया

admin

विदेश से लौटे दो लोगों की एनएमसीएएच में होगी जांच

admin

बिहार समाज के अभीभावक होते है वरिष्ठ नागरिक- डीएम

admin

Leave a Comment