ETV News 24
Other

ईलाज के दौरान डॉक्टर की लापरवाही से एक युवक की मौत

बेतिया:- जिला पश्चिमी चम्पारण डॉक्टर की लापरवाही के कारण नगर के बानु छापर वार्ड संख्या 10,के निवासी सुरेश कुमार राम उम्र 33 वर्ष पिता बहादुर राम को बैरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत खिरिया घाट पेट्रोल पंप के आगे निजी आस्था हॉस्पिटल में 25 नवंबर 2019 के दिन भर्ती कराया गया, जहाँ उसकी मौत हो गई। मरीज को सांस लेने में तकलीफ थी, जिसके इलाज हेतु डॉक्टर अंजनी कुमार के निजी आस्था अस्पताल भर्ती किया गया था। डॉक्टर द्वारा इलाज करने के क्रम खून की व्यवस्था करने को कहा गया तो परिजन ने खून की व्यवस्था के बेतिया रेड क्रॉस से संपर्क किया जहां खून की व्यवस्था उपलब्ध न होने पर परिजनों ने मोतिहारी रेड क्रॉस से संपर्क कर तीन यूनिट खून की व्यवस्था कराई और डॉक्टर को जब चढ़ाने की बात कही तब डॉक्टर ने परिजनों से स्टाफ के भरोसे खून चढ़ाने के लिए कहा तब तक मरीज की स्थिति बिगड़े लगी स्थिति बिगड़ते देख आई. सी. यू. में रख दिया गया और परिजन को बाहर कर दिया गया लेकिन उसे यह कह कर मरीज से मिलने नही दिया गया कि स्थिति अब ठीक है, इलाज चल रहा है।पर अनहोनी शंका होने पर स्थिति को देख परिजनों ने वहां आक्रोश करना शुरू कर दिया। और स्थिति को देख लोगों ने बैरिया थाना को सूचित किया सूचना पाते ही बैरिया थाना क्षेत्र के बैरिया पुलिस प्रशासन एवं नगर थाना सहित काली बाग ओपी थाना घटनास्थल पर मौजूद हुए एवं स्थिति को नियंत्रण किया। वही परिजनों का कहना है कि डॉक्टर एवं स्टॉप द्वारा जाति का भेदभाव लगाकर यहां मरीजों का इलाज होता है। परिजनों ने यह भी बताया कि उनके मरीज की स्थिति बिगड़ने के दौरान आई.सी.यू. में डाला गया। जहां आई.सी.यू.में स्टाफ द्वारा मरीज को परिजनों से मिलने व देखने नहीं दिया गया,तथा स्टाप द्वारा दवा और जांच की फीस की उगाही करते रहे। ऐसी स्थिति में परिजन वहां शोर-शराबा किए तो स्थिति गंभीर पाते हुए स्टाफ ने जैसे तैसे मरीज को बाहर निकाला और परिजनों से स्टाफ ने कहा कि आपकी मरीज की स्थिति गंभीर है इसे बाहर इलाज के लिए ले जाएं। ऐसे में परिजनों ने देखा कि उनका मरीज मर चुका है और मृत्यु हो जाने के बाद भी दावा और पैसा लिया गया। इससे परिजन उग्र हो गये और आक्रोशित हो पथराव करना शुरू कर दिया। यह घटना फ़िल्म अभिनेता अक्षय कुमार की चर्चित फिल्म की आधार पर हर निजी अस्पतालों में आए दिन घटित होती है और मरीजो के परिजनों को शोषण किया जाता हैं।

Related posts

मुंबई से आए एक ही परिवार के लोगों को आज दो कोरोना मरीज मिलने से मचा हड़कंप मंगरौरा ब्लाक के बरहूपुर मे जनपद के आला अधिकारीयों का जमावड़ा

admin

मुख्य सडक संपर्क योजना का बिधायक ने किया शिलान्यास

admin

टिकारी के छात्र रजनीकांत ने प्रथम प्रयास में जेइइ मेन की परीक्षा में सफलता की हासिल

admin

Leave a Comment