ETV News 24
Other

बेतिया जिला की खास खबरें, 07/12/2019

सप्तक्रांति एक्सप्रेस से लावारिस हालत में 33 बोतल विदेशी शराब जप्त

नरकटियागंज गोरखपुर मुजफ्फरपुर रेल खंड पर स्थित नरकटियागंज स्टेशन पर 12558 सप्तक्रांति एक्सप्रेस से 33 बोतल 7:50 एम एल विदेशी शराब लावारिस हालत में जप्त की गई है। रेल थानाध्यक्ष ने बताया कि अज्ञात 33 बोतल बिदेशी शराब सप्त क्रांति एक्सप्रेस में बरामद हुआ है जिसे बिहार मद्य निषेध अधिनियम 2018 के तहत कांड संख्या 97 /19 दर्ज कर आगे की कारवाई की जा रही है।

एसएसबी 21 वी वाहिनी डी कंपनी ने स्कूली छात्र छात्राओं के साथ चलाया सफाई अभियान।

सफाई अभियान में लगभग 300 छात्र-छात्राएं हुए शामिल, शिक्षकों की भी रही भागीदारी।

बाल्मीकि नगर थाना क्षेत्र के लक्ष्मीपुर रमपुरवा पंचायत के रमपुरवा गांव में एसएसबी 21 वी वाहिनी डी कंपनी रमपुरवा के जवानों एवं अधिकारियों ने सफाई अभियान के तहत स्कूली छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों के साथ मिलकर पूरे गांव में सफाई अभियान चलाया। इस बाबत कंपनी कमांडर दीपक पांडे ने बताया कि सफाई अभियान में जागरूकता लाने के लिए स्कूली छात्र छात्राओं को इसमें शामिल किया गया ताकि बच्चों के अंदर भारत स्वच्छता मिशन के प्रति जागरूकता आए। कंपनी कमांडर दीपक पांडे ने इसके लिए ग्रामीणों को भी जागरूक करने का प्रयास किया और ग्रामीणों पुरुष एवं महिलाएं इस सफाई अभियान में एसएसबी के कदम में कदम मिलाकर अपनी भागीदारी निभाई। बता दें कि एसएसबी 21 वी वाहिनी डी कंपनी के द्वारा आजकल स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव गलियों की सफाई अभियान चलाया जा रहा है। आज के इस सफाई अभियान से मुख्य रूप से शामिल एसएसवीके अधिकारियों में कंपनी कमांडर दीपक पांडेय डी ओ के बेहरा रोमन सिंह संजय राय, राकेश बा,महाबीर,मनोज के साथ साथ लगभग 300छात्र-छात्राएँऔर ग्रामीण शामिल हुए।

दिव्यांग जनों के बीच कविता पाठ प्रतियोगिता का कार्यक्रम आयोजन किया गया

बेतिया :- जिला पश्चिमी चम्पारण स्थानीय नगर भवन में शुक्रवार को जिला सामाजिक सुरक्षा -सह-दिव्यांगजन सशक्तिकरण को सांग द्वारा दिव्यांग जनों के बीच कविता पाठ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें कई प्रतिभागियों ने भाग लिया । उपस्थित पदाधिकारियों ने मशहूर नृत्यांगना तथा फिल्म अभिनेत्री सुधा चंद्रा की जीवनी और उनकी प्रतिभाओं के बारे में दिव्यांगों को बताया गया कि कैसे वह दोनों पैरों से दिव्यांग होते हुए भी अपनी आत्मा को हौसला में रखा और अपने मन में ठान लिया कि मुझे कुछ करके दिखाना है। वही अन्य स्थानों से आये हुए दिव्यांगों ने अपनी रचनाओं को सुनाया ।इस अवसर पर दिनेश कुमार ने अपनी कविता पाठ सुनाने के बाद अपनी व्याख्या भी सुनाई। श्री कुमार ने कहा कि दिव्यांगजन और हम मुख्यमंत्री से मिलना चाह रहे थे किंतु वे नहीं मिले और हम अपनी समस्या को नहीं सुना सके। यदि बाप अपने बेटे को नहीं सुनेगा तो कौन सुनेगा ।इसके बाद सामाजिक सुरक्षा कोषांग की ममता झा ने ऐसी बातों को कहने से रोक दिया तथा कहा कि विषय पर ही बात किया जाए ।मौके पर आई.सी.डी.एस की डीपीओ निरुपमा कुमारी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी अनिल कुमार राय, अनुमंडल पदाधिकारी सदर विद्या नाथ पासवान ,शिक्षा विभाग के डीपीओ सहित मदर लालपरी गुप्ता हैंडिकैप्ड हैंडीकैप्ड फाउंडेशन के आदित्य कुमार गुप्ता शामिल रहे ।

मुख्यमंत्री के पश्चिम चंपारण के दौरा के दौरान, जिला के समस्या से रूबरू हुई, सुरैया शाहाब

बेतिया पश्चिम चंपारण/ बिहार

मुख्यमंत्री, बिहार सरकार के पश्चिम चंपारण के दौरा पर जल जीवन हरियाली कार्यक्रम के अंतर्गत भ्रमण के दौरान, सर्किट हाउस में सुबह के समय पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने के क्रम में जिला जदयु की उपाध्यक्ष, सुरैया साहब ने मुख्यमंत्री को जिला के समस्याओं से अवगत कराते हुए, विशेषकर ,गुलाब मेमोरियल कॉलेज एवं अन्य कॉलेजों में छात्रों के नामांकन एवं रजिस्ट्रेशन के बारे में पूर्ण जानकारी देते हुए इनकी समस्याओं को समाधान के लिए आग्रह किया ,मुख्यमंत्री ने सुरैया शाहब, जिला जदयु उपाध्यक्ष को आश्वासन दिया के जिला के समस्याओं के अंतर्गत ,महाविद्यालय के इस समस्या का भी समाधान किया जाएगा, इसके अलावा जिला के सभी समस्याओं पर भी चर्चा की गई ,जिस पर मुख्यमंत्री ने पूर्ण रूप से आश्वासन दिया के सभी समस्याओं का निराकरण निकट भविष्य में कर दिया जाएगा।6 दिसम्बर काला दिवस के रूप मनाया गया बेतिया:- बाबरी मस्जिद के शहादत दिवस पर कुछ स्थानीय लोगों ने शुक्रवार को काला दिवस के रूप में मनाया और बाबरी विध्वंस को हिंदुस्तान के तारीख में बरबरी अर्थ का वाक्य माना। इन लोगों द्वारा एक ज्ञापन भी स्थानीय समाहरणालय में पहुंचकर जिला पदाधिकारी को सौंपा तथा मांग किया कि जो उस घटना को अंजाम दिया है। उसे कठोर से कठोर सजा दी जाए। लखनऊ और माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश और कथन का भी वर्णन बताया गया। यह लोग सरकार और न्यायालय से यहां के जिला पदाधिकारी के माध्यम से अपील की दोषियों को सजा मिले। इसमें नबी उल हक, साहिल खान ,रेहान खान, जमाल अहमद, ताज, शकील, रुस्तम, हैदर, फैजल, मोनू, आफताब आलम ,नासिर, शहजाद ,वहाब नाथू रवि सहित अन्य शामिल रहें।

बाबरी मस्जिद विध्वंसकों को सजा दों के मांग पर
भाकपा माले ने निकाला सांप्रदायिकता विरोधी मार्च

बेतिया
भाकपा माले ने बेतिया में बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसीं पर सांप्रदायिकता विरोधी मार्च निकाल किया सभा, मार्च रेलवे स्टेशन परिसर से निकल कर जिला समाहरणालय के पास धरना स्थल पर पहुँचा जहां सभा में तब्दील हो गया। सभा को संबोधित करते हुए भाकपा माले के केन्द्रीय कमिटी सदस्य बिरेन्द्र गुप्ता ने कहा कि 6 दिसम्बर 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस एक तरफ संविधान पर भी हमला था,तो दूसरी तरफ फासीवादी ताकतों ने सचेत रूप से संविधान के रचयिता बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के 6 दिसम्बर परिनिर्वाण दिवस पर बाबरी मस्जिद विध्वंस कर आंबेडकर पर भी हमला किया था, बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर को श्रद्धांजलि देने के साथ सभा की शुरूआत हुआ, आगे कहा कि बाबरी मस्जिद विध्वंसकों तथा उसके बाद देश में मुस्लिम समुदाय के खिलाफ चलाएं गए सांप्रदायिक हिंसा अभियान के तीन दशक गुजर जाने के बाद भी उसके अपराधीयों को अब तक सजा नहीं मिली है, उनहोंने ने आगे कहा कि जब सुप्रीम कोर्ट ने भी अपने फैंसले में कहा है कि 1949 की रात्रि में मस्जिद के गुंबद के ठीक निचे रामलला की मूर्ती रखना अबैध था, 6 दिसम्बर 1992 को फासीवादियों द्वारा बाबरी मस्जिद विध्वंस भी गैरकानूनी था, इतना ही नहीं भाजपा के कई बड़े नेता घोषणा करते रहे हैं कि हमने बाबरी मस्जिद को तोडा है, तब न्यायलय को मस्जिद विध्वंसकों को सजा देने में क्यों देरी हो रही हैं। क्यों चुप है? उनहोंने कहा कि मस्जिद विध्वंसक आज सत्ता में है और बडी़ तेजी से धर्मनिरपेक्ष व लोकतांत्रिक भारत को एक हिंदू राष्ट्र में बदलने के एजेंडे पर बढ़ रहे हैं, इस फैसले से इन ताकतों का मान और और का मान और और भी बढ़ गया है, अब आगे ताजमहल, काशी, मथुरा से लेकर भारत की हर प्राचीन मस्जिद अथवा मुस्लिम इमारत को चकनाचूर कर मिट्टी में मिला देने का नारा दे रहे हैं।
माले नेता सुनील कुमार राव सभा को संबोधित करते कहा कि लोग लोगों द्वारा कहा जा रहा है कि लंबे समय का झगड़ा समाप्त हो गया है, इसलिए सबको सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करना चाहिए क्या सच में सुप्रीम कोर्ट ने ने कोर्ट ने ने न्याय किया है? नहीं, बिल्कुल नहीं. उसका फैसला न केवल अंतर्विरोध से भरा है, बल्कि ‘जिसकी लाठी उसकी भैंस’ की कहावत को सही अर्थो में चरितार्थ करता सुप्रीम कोर्ट का फैसला पढ़ते समय ऐसा लगता है, फैसला पढ़तें समय ऐसा लगता है कि सुप्रीम कोर्ट न्याय करने वाला वाला वाला न्याय करने वाला वाला वाला है, लेकिन नतीजा ठीक उल्टा निकलता है, लेकिन नतीजा ठीक उलटा निकलता हैं, यदि मस्जिद गिराना और वैधानिक था तो फिर ऐसे फैसला था तो फिर ऐसे फैसला तो फिर ऐसे फैसला कैसे दिया जा सकता है उन्होंने आगे कहा कि मस्जिद गिराना असंवैधानिक था, तो फिर ऐसा फैसला कैसे दिया जा सकता है? वही विध्वंसकों और देश के धर्मनिरपेक्ष स्वरूप और लोकतंत्र पर हमला करने वाली ताकतों की सजा पर वह चुप है, इसका सीधा मतलब है कि फासीवादी ताकतों ने जिन सामाजिक उद्देश्यों उद्देश्यों के साथ बाबरी मस्जिद का विध्वंस किया था, सुप्रीम कोर्ट ने उस पर मुहर लगा दी है, सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साबित कर दिया है कि भाजपा ने आज देश के संपूर्ण संस्थाओं को अपनी गिरफ्त में ले लिया है, तमाम लोकतंत्र पसंद नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि उन्हें लोकतंत्र की रक्षा की लड़ाई को लड़ना होगा, फासीवादी ताकतों को देश की न्यायप्रिया जनता निश्चित रूप से ही शिकायत से ही शिकायत देगी, देश के संविधान, लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता के पक्ष में मजबूती से अवाज़ा उठाने की जरूरत है है इसलिए आज बाबरी मस्जिद विध्वंस के दोषियों को सजा दिलाने के लिए संकल्प को दोहराने और साथ ही लगतार संप्रदायिक जहर उगलने वाली प्रज्ञा सिंह ठाकुर, साक्षी महराज जैसे भाजपा नेताओं की संसद सदस्यता खारिज करने की मांग को उठाना होगा, इस मौके पर भाकपा माले नेता संजय राम राम सीताराम राम, अच्छेलाल राम, रामप्रताप पासवान, खेत मजदूर सभा के नेता मुख्तार मियां, इंकलाबी नौजवान सभा के नेता सुरेंद्र कुमार चौधरी,इसलाम अंसारी, भरत ठाकुर,योगेन्द्र यादव, हाकिम अंसारी,गुडू मिश्रा, जोखन मियां,ननदू मुखिया , भोज राम नजरें आलम आदि नेताओं में भी सभा को संबोधित किया। नरकटियागंज की अनियमिताओं के खिलाफ युवा समाजसेवियों ने काफी आक्रोश व्याप्त किया । जिनमें अतुल कुमार , अभिनव राज , रईस नेता , राजू जेन्टलमैन , आशीष कुमार ठाकुर , धनंजय कुमार , अभिजीत कुमार , फिरोज खान , अर्जुन राम , विनोद कुमार , नसीम मियां , कमल पासवान आदि प्रमुख रूप से नाराजगी व्यक्त करते हुए जमकर नारेबाजी की । नारा लगाते हुए कहा गया कि नगर परिषद नरकटियागंज की जनता की एक ही मांग , नगर मे ईमानदार और स्वच्छ ई.ओ की हो बहाल ।
अतुल कुमार और रईस नेता ने बताया कि नगर परिषद् के ई.ओ. के गिरफ्तारी के बाद नगर परिषद् में विकास और दैनिक काम की स्थिति नरकीय हो गई है। यहाँ के सांसद और विधायक को इस पर पहल करके स्थायी ई.ओ. की बहाली के लिए प्रयास होना चाहिए लेकिन स्थिति जस की तस है। नगर परिषद् के प्रवेश द्वार की स्लैब गायब है जहां से नाली की गंदी पानी बह रही है और गंदगी से विषाणु पनप रहे है। बगल मे छात्राओं की स्कूल है। इससे प्रदूषण और भयंकर बीमारी की संभावना है। एक तरफ जहां प्रधानमंत्री स्वच्छता अभियान चला रहे है वही नगर परिषद् हाथ पर हाथ लेकर बैठा है । शहर मे विषैले मच्छरों का प्रकोप काफी बढ़ा है। जिससे डेंगू का खतरा है। सुबह , शाम , दोपहर , रात हर समय मच्छरों की भनभनाहट से घर मे रहना मुश्किल हो गया है । वार्ड-08 में ई.ओ , सभापति के आश्वासन के बाद भी नाली निर्माण और पीसीसी नही हो रहा है। बरसात मे पानी लगने से घर से निकलना मुश्किल हो जाता है।
राजू जेन्टलमैन और अभिनव राज ने बताया कि नगर परिषद् का नये आँफिस बनने के बाद भी आज तक उसमे शिफ्ट नही हो सका । जगह ज्यादा नही होने से भीड काफी बनी रहती है। इन्होंने बताया कि शहर में यत्र तत्र मीट , मछली की अवैध बिक्री जारी है। आवेदन देने के बिद भी नगर परिषद् मौन है। नगर परिषद् आपके द्वारा पूरी तरह से विफल है। शहर मे जाम की स्थिति बराबर बनी रहती है। अभी चीनी मिल चालू होने के बाद स्थिति और गंभीर है। जाम और अतिक्रमण के कारण ही हाँस्पिटल के पास दो लोगो की मौत हो चुकी है। फिर भी नगर परिषद् मौन है। आशीष कुमार ठाकुर और धनंजय कुमार ने बताया कि शहर मे चारो और अवैध पशुओं का भ्रमण जारी है। जिससे डर बना रहता है। फिर भी नगर परिषद् मौन है। अभिजीत कुमार और फिरोज खान ने बताया कि सूअरो का आतंक काफी फैला हुआ है। शहरवासियों में किफी आक्रोश और नाराजगी व्याप्त है। लेकिन नगर परिषद् बिल्कुल निष्क्रिय बना हुआ है। शहर और गलियों की नालियों पर स्लैब नही है । सफाई नदारत है।
अगर इसपर पहल नही हुई तो पुतला दहन किया जाएगा ।

Related posts

सिवान में नाकाम प्रेमी ने की प्रेमिका की हत्या,प्रेमी गिरफ्तार

admin

समस्तीपुर:- इतिहास मोड़ने की लडाई है- वली रहमानी

admin

विक्षिप्त महिला को पिता के हवाले किया गया

admin

Leave a Comment