ETV News 24
Other

फसल अवशेष को जलाना पर्यावरण के लिए खतरा- नीतीश कुमार

जल जीवन हरियाली अभियान अंतर्गत जागरूकता सम्मेलन में लोगों को कर रहे थे संबोधित

अश्विनी सिंह/ संजय पांडेय

बाल्मीकि नगर थाना अंतर्गत चंपापुर गांव में जल जीवन हरियाली अंतर्गत जागरूकता अभियान सम्मेलन में आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उपस्थित जनसभा को संबोधित किया। बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चंपापुर गोनौली पंचायत अंतर्गत चंपापुर गांव में अपने जल जीवन हरियाली मिशन की शुरुआत चंपापुर मे पोखरे की की गई सौंदर्यीकरण के निरीक्षण के बाद आज से शुरू कर दी।

पराली न जलाने की लोगों से की अपील-: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जल जीवन हरियाली मिशन के तहत पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए लोगों से अपने खेतों में पराली न जलाने की अपील की। उन्होंने किसानों को इससे होने वाली हानियों के बारे में भी अवगत कराया। पराली से होने वाली हानियों में मुख्य रूप से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खेतों की उपज में कमी आने की बातें किसानों को बताई साथ ही पराली जलाने से पर्यावरण पर दुष्प्रभाव पड़ने की बातों को कहीं। उन्होंने जोर देकर फसल के अवशेषों को खेतों में ना जलाने की अपील करते हुए इसे पर्यावरण का खतरा बताया।

बिजली का दुरुपयोग ना करें उपभोक्ता- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उमड़ी जनसैलाब को संबोधित करते हुए अकारण बिजली की खपत को रोकने की बातें कहीं। उन्होंने लोगों से कहा कि बिजली का सदुपयोग करें दुरुपयोग नहीं। इस बाबत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने असली ऊर्जा अक्षय ऊर्जा और सौर ऊर्जा को बताया।

जल जीवन हरियाली पर अगले महीने बनेगा मानव श्रृंखला- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जल जीवन हरियाली मिशन मे जागृति लाने के लिए 2020 जनवरी 19 तारीख को शराबबंदी बाल विवाह और दहेज प्रथा के तर्ज पर मानव श्रृंखला बनाने का लोगों से आह्वान किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी के ऊपर जिस तरह मानव श्रृंखला चार करोड़ लोगों ने बनाई थी ठीक उसी प्रकार जल जीवन हरियाली में जागृति लाने के लिए 2020 19 जनवरी को मानव श्रृंखला बनाकर इस मिशन में और तेजी लाया जाएगा जिसके लिए मुख्यमंत्री ने लोगों से समर्थन मांगी।
इस दौरान मुख्यमंत्री ने लगभग 200 योजनाओं का उद्घाटन भी किया। उन्होंने उपस्थित जन सैलाब को बताया कि बिहार सरकार अनुसूचित जनजाति के लड़कियों के लिए बिहार बटालियन पुलिस मेशीघ्र ही नियुक्ति करने जा रही है। उन्होंने बताया कि जल जीवन हरियाली के तहत जो पौधे बाहर से मंगाने पढ़ते थे अब उन पौधों का जन्म बिहार सरकार के द्वारा किया जा रहा है ताकि पौधे होंगे तब ही वृक्षारोपण हो पाएगा।

किसानों को सिखाया जाएगा फसल चक्र विधि- लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किसानों को फसल चक्र के अनुसार खेती करने की नसीहत दी। उन्होंने किसानों को बताया कि जलवायु परिवर्तन के कारण मौसम के अनुसार किसान खेती करें। क्योंकि जलवायु परिवर्तन बिहार में एक बहुत बड़ी समस्या है जो एक ही प्रकार के फसलों को उगाने एवं वृद्धि में बहुत बड़ा बाधा बनता है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री को स्थानीय विधायक धीरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ रिंकू सिंह रामनगर विधायक भागीरथी देवी सांसद वाल्मीकि नगर लोकसभा बैजनाथ प्रसाद महतो ने फूल माला पहनाकर सम्मानित किया। जिलाधिकारी डॉ नीलेश रामचंद्र देवड़े गांधीजी का चरखा बिगर मुख्यमंत्री को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चंपापुर पोखरे पर किए गए कार्य की सराहना करते हुए जिला प्रशासन को बधाई दिया।

Related posts

मसौढ़ी भाकपा माले के पॉच सदस्य जांच टीम धनौती पहुंची

admin

सीएमआर गोदाम का भौतिक सत्यापन गुणवत्ता में कोई समझौता नहीं- प्रभारी पदाधिकारी

admin

संत पॉल स्कूल के छात्रों का मैथ्स पर इनोटिव माडल नेशनल लेबल के लिए चयनित

ETV NEWS 24

Leave a Comment