ETV News 24
Other

सांसद महोदया धनपतगंज ही नही लम्भुआ पर भी दे ध्यान,यहाँ की जनता एसडीएम विधेश उनके कमाऊपूत से परेशान

सुल्तानपुर /उत्तर प्रदेश

रिपोर्ट – ( Etv न्यूज 24 से ) वागीश कुमार

अंधेर नगरी चौपट राजा टके शेर भाजी टके शेर खाजा यह कहावत

सुल्तानपुर – लम्भुआ तहसील के उपजिलाधिकारी और उनके कमाऊपूत लेखपाल रामजनम वर्मा के ऊपर शोभा देती है,कहते है कि जैसा राजा होता है वैसे ही उसके नौकर होते है,जब राजा ही अन्धा है,तो उसके नौकर को कैसे दिखता,मामला लम्भुआ तहसील के अधिकारियों से जुड़ा है,डकाही निवासी आकाश वर्मा पुत्र अशोक कुमार निवासी ग्राम डकाही ने अपनी पैतृक भूमि को नियमानुसार वराशत किये जाने के लिए लेखपाल/कानूनगो का चक्कर लगाते रहे,लेकिन नही हुआ तो आकाश ने जनसुनवाई पोर्टल का सहारा लेना चाहा,भ्रष्टाचार की परवान चढ़ी पोर्टल को भी इन अधिकारियों ने भ्रस्ट बना दिया और डकाही ग्राम सभा की शिकायत डकाही लेखपाल को न देकर अपने कमाऊपूत लेखपाल रामजनम वर्मा को दिया जो लम्भुआ लेखपाल के पद पर तैनात है,आपको इसका प्रमाण भी देता चलू की कैसे इस लेखपाल के बिना कहे उपजिलाधिकारी,तहसीलदार एक आदेश तक देने की हिम्मत क्यों नही कर सकते,अभी एक खबर “भ्रस्टाचार की एक कड़ी लेखपाल लम्भुआ”की चली थी जिसमे लेखपाल और तहसील अधिकारियों से परेशान जनता से हमारी टीम मिलकर उनकी राय लेते हुए भ्रष्टाचार की तमाम साबूतों के साथ खबरे प्रेषित कर रहा था, इसी पर खिसियाए उपजिलाधिकारी लम्भुआ विधेश कुमार और तहसीलदार लम्भुआ ने अपने कुछ कर्मचारियों के सामने बन्द कमरे में पत्रकार संगठन (अखण्ड पत्रकार वेलफेयर एसोसिएशन सुल्तानपुर) के जिला सलाहकार अशोक कुमार को बुलाकर अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए खबर न लिखने की धमकी देते हुए पूरे संगठन के विभिन्न पत्रकारों को जेल तक भेजने की धमकी दी थी,जिसकी शिकायत संगठन द्वारा सीएम,और जिलाधिकारी, के साथ साथ राजस्व परिषद से भी की गई, यह है । अपने कमाऊपूत लेखपाल को बचाने और उपजिलाधिकारी की भ्रस्टाचार में लिप्त होने का साबूत, इस प्रकरण में एक मजे की बात अपने कर्मियों के साथ साथ राजा भी पगला गया है,जिस जनसुनवाई रिपोर्ट पर लेखपाल/कानूनगो ने अपने भ्रस्टाचार में लिप्त होने का सबूत देते हुए गलत रिपोर्ट लगा रहे है,उसी रिपोर्ट को अंधे राजा यानी एसडीएम लम्भुआ और तहसीलदार दोनों अपनी संस्तुति देते हुए अग्रसारित कर रहे है,कैसे मिले जनता को न्याय,यहां तक यहाँ के विधायक और जिले की सांसद महोदया भी इसपर मौन साध रखे है आखिर क्यो।

Related posts

“मसाैढ़ी के खरौना की प्राचार्या ने हड़ताली शिक्षकों द्वारा दबाव बनाए पर आत्महत्या की प्रयासEtv News24”

admin

रोहतास डीएम व एसपी के अच्छे व्यवहार कुशलता के   कारण शहर में हुई शांति

admin

डीएम व एसपी ने जनपदवासियों से कर्फ्यू का पालन करने की अपील

admin

Leave a Comment